SISKIYAN/सिसकियां

Image Credit :Google सिसकियों में रिस रहे अरमान तिल,तिल, खो गया अपना कोई गुमनाम है दिल। जश्न में डूबा यहां सारा जमाना, हम हँसे कैसे कोई हमको बताना, मर्ज कैसा है समझता है मेरा दिल खो गया अपना कोई गुमनाम है दिल। खौलता दरिया गमों का कौन जाने, रक्त बहता बन के आँसू कौन जाने, […]

Posted in DILTagged 29 Comments on SISKIYAN/सिसकियां

Siskiyaan

दिल तड़पता रहा हम तरसते रहे, अश्क आँखों से पल-पल बरसते रहे, जिनको पूजा न जाने कहाँ खो गया, हाय किस्मत मेरा,वेवफा हो गया।। एक उपवन में हम उनसे ऐसे मिले, एक डाली पर जैसे कलि दो खिले, हम किनारें,नदी की तरह वे मगर, जिंदगी को न जाना ये क्या हो गया, कैसे किश्मत मेरा,वेवफा […]

Posted in DILTagged 14 Comments on Siskiyaan